जिगोलो एजेंसियों की सच्चाई

हाल ही में मुझे भेजा गया यह एक और कहानी…..

 

यह मेरा व्यक्तिगत सच्चा और सही कहानी है, इस ब्लॉग पर मेरी कहानी अपलोड करें. में आज पहली बार अपनी कहानी यहाँ पर पोस्ट कर रहा हु, में राजकोट (गुजरात) से हु, राजकोट वैसे तो रंगीला सहर कहा जाता हे, मगर फिर हाल बिज़नेस मई लगातार दो साल से मंदी का माहोल बना हुआ हे, इसके चलते महीने की तनखा से घर का खर्चा चलना बहुत मुस्किल हो रहा हे,  दोस्तों के साथ आपस में गप्पे लड़ते समय एक दोस्त ने मज़ाक में यह गाइडेंस दिया की क्यों ना तू जिगोलो जॉब ज्वाइन करले, इस से तेरी समस्या भी कम हो जाएगी और पैसे भी मिलेंगे, आज काल इंटरनेट और न्यूज़ पेपर में  इसका विज्ञापन बहोत आ रहा हे, मुज़े उसकी बात सच्ची लगी, और इंटरनेट के माध्यम से मैंने ज्वाइन करना उचित समजा क्युकी, न्यूज़ पेपर वाला कदाचित परिचित निकला तो क्या होगा ये सोचकर ही इंटरनेट के माध्यम से एक एजेंसी में अपना मेल आई दी दर्ज  किया, एक या दो घंटे बीते होंगे की उसका फ़ोन आया, जोइनिंग करने के लिए उसने मेरा फोटो आई दी, एक फोटो और एड्रेस का प्रूफ लिया और कहा की आपको जोइनिंग करने के लिए डिपाजिट रकम पेय करना पड़ेगा उसके बाद आपका काम हमारे ज़रिये चालु ही जाएगा,  मैंने आपने  दोस्त (जिसने मुज़े यह सुजाव दिया था) के पास से मैंने डिपाजिट की रकम का इंतज़ाम किया और  डिपाजिट की रकम पय करदी, और चैन की सास ली की चलो अब एक दो दिन के बाद काम चालू हो जायेगा और पैसे की कमी में थोड़ी तो राहत तो मिलेगी, पर मेरे अंदाजा गलत निकला, पहले तो वह  आदमी और पैसे मांगने लगा और उसके बाद अब तो वह फोन भी नहीं उठाता और कोई जवाब भी नहीं देता, फ़ोन करते करते अब में और परेशान हो गया हु, वह नहीं तो पैसे लौटा रहा हे और, नहीं कोई जवाब दे रहा हे, ऊपर से इस पैसो की महामारी में दोस्त का कर्ज़ा कर दिया सो अलग.

इसलिए दोस्तों मेरी आपसे यह गुजारिश हे, की अगर आप जिगोलो एजेंसी को ज्वाइन करो तो सोच समज़कर करना क्युकी आपकी हालत भी मेरे जैसी न हो. इस लिए मैंने जिस एजेंसी का संपर्क किया था उसका लिंक यहाँ पे पोस्ट कर रहा हु,
http://xxxxxxxxxxx/MaleEscorts/gigolos-jobs-male-escorts-call-boys-surat-rajkot-agency/xxxxxxxxx (नाम : विकास आहूजा) Mob.No. : O7O9xxxxxxx
क्युकी आप भी मेरी तरह उल्लू ना बने, ये बात अगर किसी को अफवाह लगती हे तो मेरे पास डिपाजिट की बैंक रसीद हे, जो मई दिखा सकता हु.

और मेरा इस ब्लॉग के कर्ता को निवेदन करता हु की मेरी यह पोस्ट ज़रूर लोगो तक पहुचाये ताकि मेरे जैसे कोई उल्लू ना बने .

शुक्रिया

नाम : xxxxxxxxxx
शहर : राजकोट
राज्य : गुजरात

 

(gigolotraining.com इस कहानी की जांच नहीं कर सकता, इसीलिए हम ने इस कथित अपराधी का वेबसाइट और फोन नंबर छुपा दिया है) 

 

क्या सबक सीख सकते है हम इस से ?


सबक # 1: Gigolo एजेंसियां बस ठगते हैं. उनके पास कोई ग्राहक नहीं होते.


ज़रा सोचिये.

अगर आप एक धनी महिला होती तो क्या आप एक एजेंसी के माध्यम से जिगोलो  खोजती ?

क्यों ? क्या सुविधाएँ देते हैं एजेंसी वाले आप को ?

क्या एजेंसी वाले कोई जाँच करते है ताकि केवल सभ्य पुरुषों को आप के होटल के कमरे का नंबर मिले और अभद्र पुरुष  आप के पास कभी नहीं आ पाये?  नहीं, ऐसा कोई जांच नहीं होता. वह तो किसी भी आदमी को स्वीकार करेंगे जो उनको पैसा देगा (क्रिमिनल लोगों को भी सदस्यता मिलती है इन एजेंसियों में).

क्या एजेंसियां इस बात की जांच करती हैं के सिर्फ उन पुरुषों को आप का फ़ोन नंबर मिले जो सुन्दर हैं और अच्छी तरह से बात करतें हैं? नहीं, वह किसी भी आदमी को स्वीकार करेंगे जिसने उन्हें पैसे दिए, भले वह गंदा, बदसूरत, बदबूदार, बुरी तरह कपड़े पहने वाला क्यों न हो.

क्या एजेंसी इस बात की पुष्टिकरण करते है के बंदा औरत  को संतुष्ट करने में कुशल है के नहीं? नहीं, वह किसी भी पुरुष को स्वीकारेंगे भले उसने अपने जीवन में महिला को छुआ तक नहीं होगा.

इस विचित्र डरावने आदमी को भी मेम्बरशिप मिलेगा, अगर वह पैसे  देता है तो  🙂

ज़रा सोचिये. अगर इस आदमी ने एजेंसी के खाते में पैसे जमा कर दिए, तो वह जिगोलो बन जायेगा? और उसे धनि, उच्च वर्गों के महिलाओं के फ़ोन नंबर मिलेंगे? और वे महिलाएं इस बन्दे को अपने होटल रूम में बुलालेंगी? और इसके सुन्दर चेहरे को चूम लेंगी ? सिर्फ इसीलिए के इस ने एजेंसी को पैसे दिए हैं ?

🙂

मज़ाक को अलग रखें और ज़रा सोचिये…

एक धनि, उच्च वर्ग की महिला, एक एजेंसी का सहारा क्यों ले अगर उस एजेंसी से कोई लाभ नहीं मिलता ?

धनि लोग बेवक़ूफ़ नहीं होते. बेवक़ूफ़ लोग धनि नहीं बनते.

बेवक़ूफ़ तो वह लोग हैं जो बिना सोचे एजेंसियों को पैसे देते हैं.

 


सबक # 2: उनका दूकान इसलिए चलता हैं क्योंकि कोई शिकायत नहीं करते 


यदि आप ने किसी ट्रेवल एजेंसी से ट्रैन की कनफर्म्ड टिकट खरीदी और आप का नाम आरक्षित लिस्ट में नहीं है तो तो क्या आप उस एजेंसी वाले को छोड़ देंगे? उसे फ़ोन करेंगे, पैसे वापस मांगेगे, और अगर उसने फ़ोन नहीं उठाये तो पोलिस कंप्लेंट करेंगे.

तो फिर क्यों हम ठगी जिगोलो एजेंसियों का कंप्लेंट नहीं करते ?

क्योंकि हमे डर है के यह अवैध व्यापार है.

वैसे यह अवैध व्यापार नहीं.

जिगोलो की परिभाषा क्या है?

According to Merriam-Webster dictionary, gigolo means

A man supported by a woman usually in return for his attentions or a professional dancing partner or male escort.

इस में कोई भी गैरकानूनी काम का जिक्र नहीं है.

हाँ अगर कोई जिगोलो ने देश का कानून तोडा तो वो दोषी हैं पर इस व्यापार में कोई अवैध बात नहीं.

फिर भी लोग डरते हैं पुलिस कंप्लेंट करने केलिए और इस डर का फायदा यह ठगी एजेंसी वाले उठाते हैं

 


सबक # 3:  कुछ एजेंसियां महिलाओं के कॉन्टेक्ट्स भेजते हैं लेकिन यह ‘अलग’ ढंग की महिलाये हैं


कभी कभी, एजेंसी को पैसे देने के बाद, कुछ महिलाओं के कॉल आने लगते हैं आप को.

यह फ़ोन पर साफ़ बताएंगी, “मैं आप से मिलूंगी पर मुझे आप गिफ्ट दोगे? कितने का गिफ्ट दोगे?”

अरे भाई, ऐसी ‘कांटेक्ट’ के लिए एजेंसी की क्या ज़रुरत थी? कहीं भी मिल जाती 🙂

आप के घावों में थोड़ा और नमक डालनेकी इजाज़त दे.
पहले, एजेंसी वाले ने आप से पैसे कमाए, अब यह लड़की आप से पैसे कमाएगी. मतलब आप दोनों तरफ से बकरा बन गये. माफ़ करना, पर यह है कड़वी सच जिगोलो एजेंसियों कि.

सावधान : ठगी एजेंसियों का एक नया जाल 

एक बन्दे ने मुझे एक नए प्रकार के एजेंसी गोटले के बारे में बताया

एजेंसी आप को कहेगी “हम मेम्बरशिप के पैसे नहीं लेते, हम बस कमीशन पे काम करते हैं. अगर हम ने आप केलिए महिला ग्राहक लाये तो आप की कमाई से हम थोड़े से कमीशन लेंगे, वार्ना हम एक पैसा भी नहीं लेंगे”

आप का नाम, email, photo-ID लेते हैं और मुफ्त में रजिस्ट्रेशन कर देते हैं. एक पैसे भी नहीं माँगते. आप खुश हो जाते हैं.

फिर एक दिन एजेंसी से एक कॉल आता है “बधाई हो, आप का पहला ग्राहक तैयार हैं. यह महिला आप को Rs.30,000 रूपए देगी. हमारा कमीशन है, पहली बार 50%, दूसरी बार 30% और उसके बाद हर बार 10%. आप को मंज़ूर हैं?”

आप ख़ुशी से कहते हैं…“हाँ भाई मंज़ूर है, मुझे ग्राहक से मिला दो”

एजेंसी वाला : “ठीक है, Rs.30,000 के 50% कमीशन होता है Rs.15,000. आप को हमारा बैंक अकाउंट नंबर SMS कर दिया है. आप Rs.15000 जमा कर दीजिये और आप के ग्राहक का कांटेक्ट नंबर भेज देंगे. पर जल्दी करना. यह ग्राहक जल्दी में है. अगर आप के पैसे अगले २ घंटों में नहीं मिले, तो इस ग्राहक का कांटेक्ट कोई और जिगोलो को भेज देंगे “

आप किसी तरह पैसों का इंतज़ाम कर एजेंसी के खाते में जमा कर देते हैं

उसके बाद एजेंसी वाले आप को फिर कभी फ़ोन नहीं करते. और अगर आप ने उनको फ़ोन की, तो फ़ोन नहीं उठाते. वही पुरानी कहानी.

 

यह न कहो के मैंने आप को चेतावनी नहीं दी  

—————————————————————

———–

 

Read English translation here